Breaking News

यूपी, महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में घटे नए डेली कोरोना केस, जानें क्या है इशारा

नई दिल्ली महाराष्ट्र, यूपी, पंजाब, दिल्ली, गुजरात, कर्नाटक, केरल, छत्तसीगढ़ जैसे राज्यों से बड़ी खुशखबरी आई है। यहां रविवार को नए में कमी देखी गई जो दूसरी लहर का एक रिकॉर्ड है। शुक्रवार को डेली कोरोना केस का आंकड़ा 4 लाख को पार कर गया था, लेकिन रविवार को यह गिरकर 3.68 लाख रह गया। शनिवार को देश में 3.92 लाख नए कोरोना केस सामने आए थे। कम टेस्टिंग के कारण घटे नए केस? जानें जवाब बहुत से लोग रविवार को नए कोरोना केस में आई गिरावट को कम टेस्टिंग से जोड़कर देख रहे हैं। हकीकत यह है कि रविवार को कम टेस्ट होते भी हैं, लेकिन दूसरी हकीकत यह भी है कि रविवार को लिए गए नमूनों की ज्यादातर रिपोर्ट अगले दिन सोमवार को आती है। यही वजह है कि ऐतिहासिक रूप से हर सोमवार को नए कोरोना केस के आंकड़े थोड़े कम होते हैं। पिछले रविवार को भी 15 लाख सैंपल लिए गए थे जबकि सोमवार से शनिवार तक औसतन 18 से 19 लाख सैंपल लिए जाते हैं। बीते शनिवार को ही 18 लाख से ज्यादा सैंपल लिए गए थे जबकि गुरुवार और शुक्रवार को 19-19 लाख से भी ज्यादा सैंपल लिए गए थे जो अब तक का रेकॉर्ड है। बहरहाल, कम कोरोना पॉजिटिव केस आने के पीछे कम टेस्टिंग का कितना हाथ है, लेकिन इतना तो सुनिश्चित है कि शनिवार और रविवार, लगातार दो दिन डेली केरोना केस में गिरावट आई। ऐसा लंबे समय से नहीं देखा जा रहा था। इतना ही नहीं, चार दिनों से ऐक्टिव केस की संख्या 1 लाख से कम बढ़ी। रविवार को तो 63,998 ऐक्टिव केस ही बढ़े जो 20 दिनों में सबसे कम है। 13 से 28 अप्रैल के बीच ऐक्टिव केस हर दिन 1 लाख से ज्यादा बढ़ रहे थे। ये 15 दिन कोरोना के लिहाज से सबसे खराब पखवाड़ा रहा। इस दौरान 48 लाख नए कोरोना केस सामने आए जबकि 35 हजार मरीजों की मौत हो गई। इन राज्यों ने बढ़ाया उत्साह महाराष्ट्र में बीते कुछ दिनों से नए कोरोना केस में गिरावट देखी जा रही है, लेकिन केरल, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और कर्नाटक से भी खुशखबरी आ रही है। इन सबमें बेहतरीन प्रदर्शन उत्तर प्रदेश का रहा है जहां अप्रैल के पहले दो हफ्तों में बहुत ज्यादा दैनिक नए केस आ रहे थे, लेकिन अब हालत स्थिर है। उत्तर प्रदेश में 18 अप्रैल को 30 हजार नए कोविड केस आए और अगले दो हफ्ते तक करीब-करीब यही आंकड़ा कायम रहा। एक्सपर्ट्स को लगने लगा कि उत्तर प्रदेश नए कोरोना केस के मामले में कहीं महाराष्ट्र को भी नहीं पछाड़ दे। वहां हर दिन 50 से 60 हजार नए कोरोना केस आने की आशंका जताई जाने लगी थी, लेकिन अब यह आशंका काफूर होती दिख रही है। मुंबई में घटे केस, लेकिन मौतों पर लगाम नहीं अगर बात किसी एक शहर की हो तो इस मामले में मुंबई से सबसे बड़ी उम्मीद जगी है। एक महीने पहले ही वहां एक दिन में 11 हजार से ज्यादा नए कोरोना केस आए थे जबकि सोमवार को 2,624 केस ही आए। हालांकि, वहां दैनिक मौतों का आंकड़ा ऊंचा ही रहा और सोमवार को वहां 78 मरीजों ने दम तोड़ दिया। इधर, पिछले एक महीने से दिल्ली के तमाम श्मशानों में कोविड मृतकों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी पर चंद रोज से थोड़ा ब्रेक लग गया है। दिल्ली में घट रहीं मौतें कोविड की नई लहर में 30 अप्रैल को पहली बार यह नोटिस किया गया कि दिल्ली में पिछले दिनों की तुलना में कोविड मृतकों की संख्या 0.83 प्रतिशत कम है। इसके अगले दिन कोविड मृतकों की संख्या और कम हो गई। कोविड मृतकों की संख्या में लगातार कमी को एमसीडी पब्लिक हेल्थ के डॉक्टरों ने अच्छा संकेत बताया है और कहा है कि अब संक्रमण से राहत की उम्मीद नजर आने लगी है। डेडबॉडी में अब 11.4% तक कमी अफसरों के अनुसार, 29 अप्रैल को तमाम श्मशानों एवं कब्रिस्तानों में 717 डेडबॉडी के अंतिम संस्कार हुआ। अगले दिन 30 अप्रैल को 711 कोविड मृतकों का अंतिम संस्कार किया गया। वहीं 1 मई को तमाम श्मशानों में 697 और 2 मई को 620 कोविड मृतकों की डेडबॉडी का अंतिम संस्कार किया गया। इस तरह 30 अप्रैल को पहली बार श्मशानों में 6 प्रतिशत कम डेडबॉडी अंतिम संस्कार के लिए आईं। इसके अगले दिन 1.96 प्रतिशत और 2 मई को 11.04 प्रतिशत कम डेडबॉडी आई थी।


from https://ift.tt/3eikce2 https://ift.tt/2EvLuLS