Breaking News

अमेरिका से लेकर रोमानिया तक बढ़े मदद के हाथ, तस्वीरों में देखें कैसे पहुंच रही मदद

नई दिल्लीभारत कोरोना वायरस की दूसरी भीषण लहर से जूझ रहा है और बीते कुछ दिनों से देश में रोजाना तीन लाख से अधिक मामले आ रहे हैं जबकि अस्पताल ऑक्सीजन और बिस्तरों की कमी का सामना कर रहे हैं। कोरोना महामारी के इस संकट की घड़ी में दुनिया भर से भारत मदद पहुंचनी शुरू हो गई है। अमेरिका के अलावा रूस, फ्रांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, आयरलैंड, बेल्जियम, रोमानिया, लक्समबर्ग, सिंगापुर, पुर्तगाल, स्वीडन, न्यूजीलैंड, कुवैत और मॉरीशस सहित कई प्रमुख देशों ने भारत को महामारी से लड़ने में मदद करने के लिए मेडिकल सहायता की घोषणा की है। आइए तस्वीरों में देखते हैं कैसे भारत मदद पहुंच रही है।

विदेश सचिव हर्षवर्द्धन श्रृंगला ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी (Covid-19 pandemic) के कारण ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई है जो पहले कभी नहीं थी। ऐसे में भारत अपने सहयोगी और मित्र देशों से मिलने वाली मेडिकल सप्लाई एवं सहायता को किसी नीतिगत ढांचे के दायरे में नहीं देख रहा है। उन्होंने कहा कि 'टीका मैत्री' अभियान के तहत भी भारत ने अन्य देशों को वैक्सीन उपलब्ध कराया है।


अमेरिका से लेकर रोमानिया तक बढ़े मदद के हाथ, तस्वीरों में देखें कैसे पहुंच रही मदद

नई दिल्ली

भारत कोरोना वायरस की दूसरी भीषण लहर से जूझ रहा है और बीते कुछ दिनों से देश में रोजाना तीन लाख से अधिक मामले आ रहे हैं जबकि अस्पताल ऑक्सीजन और बिस्तरों की कमी का सामना कर रहे हैं। कोरोना महामारी के इस संकट की घड़ी में दुनिया भर से भारत मदद पहुंचनी शुरू हो गई है। अमेरिका के अलावा रूस, फ्रांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, आयरलैंड, बेल्जियम, रोमानिया, लक्समबर्ग, सिंगापुर, पुर्तगाल, स्वीडन, न्यूजीलैंड, कुवैत और मॉरीशस सहित कई प्रमुख देशों ने भारत को महामारी से लड़ने में मदद करने के लिए मेडिकल सहायता की घोषणा की है। आइए तस्वीरों में देखते हैं कैसे भारत मदद पहुंच रही है।



​वैक्सीन की तैयार खुराकों के साथ-साथ कच्चा माल भी शामिल
​वैक्सीन की तैयार खुराकों के साथ-साथ कच्चा माल भी शामिल

अमेरिका से आने वाले सामान में ऑक्सिजन सिलिंडर/रेग्युलेटर, रैपिड डायग्नोस्टिक किट, N95 मास्क और पल्स ऑग्जीमीटर लेकर आ रहे हैं। सूत्रों ने बुधवार को बताया था कि भारत ने अमेरिका से मेडिकल आपूर्ति मांगी है जिनमें वैक्सीन की तैयार खुराकों के साथ-साथ कच्चा माल भी शामिल है।



​स्वास्थ्य कर्मियों के लिए 100,000 एन95 मास्क
​स्वास्थ्य कर्मियों के लिए 100,000 एन95 मास्क

कोविड-19 के सामुदायिक प्रसार को रोकने में मदद करने के लिए 960,000 'रैपिड डायग्नोस्टिक टेस्ट' किट भेजी हैं जिससे संक्रमण की शुरुआत में ही पहचान हो जाएगी। साथ में स्वास्थ्य कर्मियों के लिए 100,000 एन95 मास्क भी भेजे हैं।



​बड़ी संख्या में रेमडेसिविर इंजेक्शनों की आपूर्ति
​बड़ी संख्या में रेमडेसिविर इंजेक्शनों की आपूर्ति

बाइडन प्रशासन ने एक्सट्राजेनेका को दिए अपने आर्डर में बदलाव किया है जिससे भारत कोविड-19 रोधी टीके की दो करोड़ खुराकें बना सकेगा। इसके अलावा वह बड़ी संख्या में रेमडेसिविर इंजेक्शनों की आपूर्ति भारत को कर रहा है।



​रेमडेसिविर, टोसिलिज़ुमैब और फेवीपिरवीर खरीद पर फोकस
​रेमडेसिविर, टोसिलिज़ुमैब और फेवीपिरवीर खरीद पर फोकस

भारत अमेरिका और अन्य देशों से रेमडेसिविर, टोसिलिज़ुमैब और फेवीपिरवीर जैसी अहम दवाओं की खरीद पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।



​विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने रोमानिया का दिया धन्यवाद
​विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने रोमानिया का दिया धन्यवाद

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने मेडिकल सप्लाई के लिए ईयू पार्टनर रोमानिया का समर्थन के लिए आभार जताया। रोमानिया के दूतावास ने बताया कि 80 ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर्स, 75 ऑक्सीजन सिलेंडर समेत अन्य चिकित्सा सामग्री लेकर एक विमान बुखारेस्ट से दिल्ली पहुंचा।



​आयरलैंड से पहुंचे 365 वेंटिलेटर्स
​आयरलैंड से पहुंचे 365 वेंटिलेटर्स

कोरोना संकट के बीच आयरलैंड से 700 यूनिट ऑक्सिजन कॉनस्नट्रेटर्स, 365 वेंटिलेंटर्स भारत पहुंचे। विदेश मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इसकी जानकारी दी।



​हरदीप पुरी ने दी हॉन्गकॉन्ग से मदद की जानकारी
​हरदीप पुरी ने दी हॉन्गकॉन्ग से मदद की जानकारी

हॉन्गकॉन्ग ने भारत के साथ प्रतिबद्धता जताते हुए 300 ऑक्सिजन कॉन्सन्ट्रेटर्स के साथ ही अन्य मेडिकल उपकरण इंडिगो फ्लाइट से दिल्ली भेजी। नागरिक उड्ड्यन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि इन सप्लाई से भारत के मौजूदा प्रयासों को बल मिलेगा।





from https://ift.tt/2S6OWFY https://ift.tt/2EvLuLS